Delhi में पहली बार ऑड-ईवन सिस्टम लागू

Fastnewstoday

Delhi:  प्रदूषण के चलते हवा जहरीली हो गई है। WHO के मुताबिक 0 से 50 के बीच का AQI सुरक्षित माना गया है। इस हिसाब से एवरेज AQI 25 होना चाहिए।

सोमवार को Delhi का ऐवरेज एयर क्वालिटी इंडेक्स यानी AQI 470 दर्ज किया गया।यानी इस समय Delhi की हवा WHO की तय सीमा से 20 गुना ज्यादा प्रदूषित है।

Delhi में एयर क्वालिटी क्रिटिकल यानी खतरनाक स्तर पर पहुंचने के बाद पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने 13 से 20 नवंबर तक गाड़ियों के लिए ऑड-ईवन सिस्टम लागू करने का ऐलान किया है।

Fastnewstoday प्रदूषण को देखते हुए Delhi सरकार गैर जरूरी ​​​​​​कंस्ट्रक्शन, BS-3 कैटेगरी वाले पेट्रोल और BS-4 कैटेगरी वाले डीजल वाहनों पर पहले ही रोक लगा चुकी है। दीपावली के अगले दिन से एक हफ्ते के लिए ऑड-ईवन फॉर्मूला लागू करने का फैसला लिया गया।वहीं 5वीं तक के स्कूलों को 10 नवंबर तक बंद करने का आदेश दिया गया था।

Delhi में पटाखों पर प्रतिबंध
गोपाल राय ने आज प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा- Delhi में पटाखों पर प्रतिबंध है। इसके बावजूद पिछले साल पटाखे फोड़े गए। इस साल दीपावली के बाद वर्ल्ड कप के मैच हैं। फिर छठ भी आ रहा है। Delhi पुलिस को निर्देश दिया गया है कि टीमों को सतर्क करें।

ऑड-ईवन फॉर्मूला क्या है
Fastnewstoday Delhi सरकार ने प्रदूषण को कम करने के लिए 2016 में पहली बार ऑड-ईवन सिस्टम लागू किया था। इसमें हफ्ते के एक दिन ऑड नंबर वाले फोर व्हीलर चलते हैं और अगले दिन ईवन नंबर वाले।

ऑड-ईवन के दायरे से टू व्हीलर को बाहर रखा गया है। ईवन नंबर यानी जो 2 से डिवाइड हो जाएगी, जैसे- 2, 4, 6, 8, 10…। जबकि ऑड मतलब जो 2 से डिवाइड नहीं होगी, जैसे 1, 3, 5, 7, 9…।

मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्‌टर ने कहा
हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्‌टर ने 5 नवंबर को कहा था पंजाब की खराब हवा हरियाणा में भी प्रदूषण फैला रही है। 4 नवंबर को भी उन्होंने भगवंत मान सरकार पर हरियाणा में प्रदूषण फैलाने का आरोप लगाया था।

छोटे बच्चों के दिमागी विकास पर बुरा असर
Delhi के सफदरजंग अस्पताल के डॉक्टर नीरज गुप्ता ने 5 नवंबर को कहा था खराब एयर क्वालिटी प्रेग्नेंट महिलाओं के पेट में पल रहे बच्चे को भी नुकसान पहुंचाती है। जैसे-जैसे AQI बढ़ता है, छोटे बच्चों के दिमागी विकास पर बुरा असर पड़ता है। उनकी मानसिक शक्ति कम होने लगती है। प्रदूषण का सबसे ज्यादा खतरा प्रेग्नेंट महिलाओं और बच्चों में होता है।

GRAP का चौथा स्टेज लागू
Fastnewstoday बढ़ते प्रदूषण को लेकर Delhi में GRAP का चौथा स्टेज लागू कर दिया गया है। इसके तहत कॉमर्शियल गाड़ियों की एंट्री पर रोक लग गई है।

सब्जी, फल, दवा जैसी जरूरी सामान की आपूर्ति करने वाले, CNG और इलेक्ट्रिक ट्रकों को छोड़कर बाकी ट्रकों की आवाजाही को प्रतिबंधित कर दिया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »