युवाओं को सेना में भर्ती कराने का झांसा देकर ठगी करने का गिरोह-Haryana

Harayana: आज कल देश में ठगी के नए नए मामले सामने आ रहे है हरियाणा, झारखंड, राजस्थान, बिहार और उत्तर-प्रदेश के 100 से अधिक युवाओं को सेना में भर्ती कराने का झांसा देकर ठगी करने वाले अंतरराज्यीय गिरोह के सरगना को चरखी दादरी पुलिस ने पटना (बिहार) से गिरफ्तार किया है।

आरोपी सुनील पटना के नेहरू नगर का रहने वाला है और उसने गिरफ्तारी के दौरान चरखी दादरी पुलिस टीम पर हमला भी करवा दिया और दादरी टीम के दरोगा को बंधक भी बना लिया था। हालांकि समय से बिहार पुलिस की मदद मिलने से पुलिस टीम वहां से आरोपी को लेकर निकलने में कामयाब रही।

डीएसपी अशोक कुमार ने बताया
Fastnewstoday डीएसपी अशोक कुमार ने बताया कि आरोपी द्वारा विभिन्न प्रदेशों में युवाओं के साथ ठगी की और अब तक करीब 100 से अधिक युवाओं को इस गिरोह ने निशाना बनाया है। ये दानापुर आर्मी कैंट का युवाओं को फर्जी ज्वाइनिंग लेटर देते थे। इतना ही नहीं इससे पहले मेडिकल जांच और अन्य औपचारिकताएं पूरी करने के लिए भी युवाओं को वहां बुलाया जाता था।

डीएसपी अशोक कुमार ने बताया कि दरअसल आर्मी कैंट में आमजन भी रहते हैं और इस बात का ही गिरोह फायदा उठाता था। फिलहाल आरोपी को 8 दिन के रिमांड पर लेते हुए पुलिस ने जांच शुरू कर दी है।

Fastnewstoday आरोपी सुनील की गिरफ्तारी को लेकर दादरी डीएसपी हेडक्वार्टर अशोक कुमार ने सोमवार को प्रेसवार्ता करते हुए बताया कि दादरी सदर थाना में वर्ष 2022 में पांच आरोपियों के खिलाफ ठगी के संबंध में 316 नंबर एफआईआर हुई थी।

इस मामले में शुक्रवार को दादरी साइबर थाना प्रभारी पीएसआई विशाल की अगुवाई में 5 सदस्यीय टीम 1200 किलोमीटर दूर पटना में आरोपी सुनील को गिरफ्तार करने पहुंची।

दादरी पुलिस टीम के दारोगा को बंधक बनाया
टीम जब उसे काबू कर वाहन में बैठाने लगी तो उसने अपहरण का शोर मचा दिया और इसके बाद उसकी मदद के लिए आए स्थानीय लोगों ने न केवल पुलिस टीम का विरोध किया, बल्कि हमला तक कर दिया।

इस दौरान दादरी पुलिस टीम के दारोगा को बंधक भी बना लिया था। गनीमत रही कि समय रहते बिहार पुलिस वहां पहुंच गई और दादरी साइबर थाना पुलिस टीम आरोपी को लेकर वहां से निकलने में कामयाब हो गई। रविवार को पुलिस टीम उसे लेकर दादरी पहुंची। हालांकि इससे पहले टीम ने हमला करने वालों के खिलाफ बिहार में हत्या के प्रयास का मामला भी दर्ज करवाया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »