Haryana में गरीबों को मिलेंगे प्लाट और मकान-CM Manohar Lal

गांव में गरीबों को मिलेंगे प्लाट और मकान-CM Manohar Lal

Haryana: Haryana में मुख्यमंत्री शहरी आवास योजना की तर्ज पर जल्दी ही मुख्यमंत्री ग्रामीण आवास योजना भी चलाई जाएगी। शहरी आवास योजना के तहत राज्य सरकार पात्र परिवारों को एक लाख मकान या प्लाट देगी।

दुधारू और पालतू पशुओं को पशुपालकों के घर पर ही अच्छा इलाज उपलब्ध कराने के लिए राज्य सरकार ने बड़ी पहल की शुरू-Haryana

 Fastnewstoday इसके अलावा Charkhi Dadri, Bhiwani, Yamunanagar और Mahendragarh जिलों के पास खनन क्षेत्र के करीब 20 किलोमीटर के दायरे में आने वाले गांवों में शिवधान योजना के तहत काम कराए जाएंगे। CM Manohar Lal बृहस्पतिवार को चंडीगढ़ में वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से राज्य स्तरीय दिशा कमेटी की बैठक ले रहे थे।

गांव में गरीबों को मिलेंगे प्लाट और मकान-CM Manohar Lal
Haryana में गरीबों को मिलेंगे प्लाट और मकान-CM Manohar Lal

सांसद और विधायक इस कमेटी के सदस्य होते हैं। CM ने कहा कि जिला स्तर पर दिशा कमेटी की त्रैमासिक बैठक अवश्य बुलाई जानी चाहिए। यदि किसी कारणवश सांसद बैठक के लिए समय नहीं दे पाते हैं, तो उस स्थिति में जिला उपायुक्तों को बैठक बुलाने का अधिकार है।

Haryana नारनौंद हलके में 92 करोड़ से अलग- अलग सड़कों का निर्माण- JJP

Fastnewstoday Manohar Lal ने कहा कि आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग को सिर पर छत उपलब्ध करवाने के उद्देश्य से मुख्यमंत्री शहरी आवास योजना की तर्ज पर ग्रामीण क्षेत्रों में भी गरीबों को आवासीय सुविधा उपलब्ध करवाने के लिए मुख्यमंत्री ग्रामीण आवास योजना की रूपरेखा तैयार की जाए।

गांव में गरीबों को मिलेंगे प्लाट और मकान-CM Manohar Lal
Haryana में गरीबों को मिलेंगे प्लाट और मकान-CM Manohar Lal

CM ने जिला उपायुक्तों को निर्देश दिए कि प्रधानमंत्री खनिज क्षेत्र कल्याण योजना के अंतर्गत खनन क्षेत्र वाले जिलों में खनन क्षेत्र से 20 किलोमीटर के दायरे में आने वाले गांवों में शिवधाम योजना के तहत करवाए जाने वाले कार्यों का निष्पादन सुनिश्चित किया जाए।

बैठक में जानकारी दी गई कि Charkhi Dadri, Bhiwani, Yamunanagar और Mahendragarh जिलों के पास खनन कोष के रूप में 17-17 करोड़ से अधिक की राशि उपलब्ध है।

ये भी पढ़े…..

Police कर्मचारी के तरह अब SPO भी कर सकेंगे मुफ्त यात्रा-Haryana

गृह विभाग के प्रस्ताव को वित्त विभाग ने मंजूरी देते हुए परिवहन विभाग को निर्देश जारी कर दिए हैं। वर्तमान में प्रदेश में कुल 11 हजार 52 SPO कार्यरत हैं। इनकी नौकरी नियमित नहीं होती और वेतन भी बजट की स्वीकृति के अनुसार ही मिलता है। SPO को Police के सहयोग के लिए तैनात किया जाता है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »