Adani समूह के फाउंडर और चेयरमैन Gautam Adani ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद ट्वीट कर जताई खुशी

Adani समूह के फाउंडर और चेयरमैन Gautam Adani ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद ट्वीट कर जताई खुशी

Gautam Adani ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले से कुछ देर बाद ही एक्स ( पूर्व में ट्विटर) पर पोस्ट लिखकर फैसले पर खुशी जताई.Gautam Adani ने फैसले का स्वागत करते हुए लिखा ‘ सत्य की जीत हुई है.सत्यमेव जयते. मैं उन लोगों का आभारी हूं जो हमारे साथ खड़े रहे. भारत के विकास में हमारा योगदान जारी रहेगा.

 


Fast News Today सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि सेबी की जांच पर संदेह नहीं किया जा सकता है. कोर्ट ने सेबी को अभी बाकी दो जांच के लिए तीन महीने का वक्त दिया है. 22 जांच सेबी कर चुकी है. कोर्ट ने Gautam Adani को बड़ी राहत देते हुए मामले को SIT को सौंपने से इनकार कर दिया. सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि भारत सरकार और सेबी निवेशकों के हितों मजबूत करने के लिए समिति की सिफारिशों पर विचार करेंगे।

Adani समूह के फाउंडर और चेयरमैन Gautam Adani ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद ट्वीट कर जताई खुशी
Adani समूह के फाउंडर और चेयरमैन Gautam Adani ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद ट्वीट कर जताई खुशी

 

वहीं कोर्ट ने सरकार और सेबी ने कहा है कि देखें कि वो क्या शॉर्ट सेलिंग पर हिंडनबर्ग रिपोर्ट से कानून का कोई उल्लंघन हुआ है. अगर हुआ है तो कानून के मुताबिक कार्रवाई हो. कोर्ट ने कहा कि ओसीसीपीआर की रिपोर्ट को सेबी की जांच पर संदेह के तौर पर नहीं देखा जा सकता.

Fast News T oday सुप्रीम कोर्ट ने सेबी की जांच के सही ठहराते हुए मामला SIT को सौंपने से इनकार कर दिया. कोर्ट ने सेबी को तीन और महीने का वक्त दिया है. सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद अडानी समूह के फाउंडर और चेयरमैन Gautam Adani ने ट्वीट कर फैसले पर खुशी जताई.

Adani समूह के फाउंडर और चेयरमैन Gautam Adani ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद ट्वीट कर जताई खुशी
Adani समूह के फाउंडर और चेयरमैन Gautam Adani ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद ट्वीट कर जताई खुशी

24 जनवरी 2023 में अमेरिकी शार्ट सेलर कंपनी हिंडनबर्ग ने अडानी समूह पर गंभीर आरोप लगाए थे. मामला कोर्ट तचक पहुंचा और आज इस मामले में देश की सर्वोच्च अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया.हिंडनबर्ग की रिपोर्ट के बाद अडानी के शेयरों में बड़ी गिरावट देखने को मिली.

 

Britain के गृह मंत्री जेम्स क्लेवरली ने कहा कि एक जनवरी से वीजा मार्गों पर प्रतिबंध लागू किए जाने से India समेत विदेशी Student स्वजनों को अपने साथ ब्रिटेन नहीं ला सकेंगे। सरकार ने हजारों लोगों के प्रवासन में कटौती करने और लोगों को देश की आव्रजन प्रणाली में हेरफेर करने से रोकने के लिए नए नियम लागू किए हैं। नए नियम लागू होने के बाद से हजारों की संख्या में लोगों के प्रवासन में कमी आएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »