India सरकार चाहती है कि स्वास्थ्य Insurance सबके पहुंच में हो

सरकार चाहती है कि स्वास्थ्य Insurance सबके पहुंच में हो-India

India:India सरकार चाहती है कि स्वास्थ्य बीमा सबके पहुंच में हो और इस काम के लिए एक फरवरी को पेश होने वाले अंतरिम बजट में घोषणाएं भी हो सकती हैं। आयुष्मान भारत स्कीम के दायरे को बढ़ाया जा सकता है। वहीं स्कीम के तहत बीमा राशि की सीमा भी बढ़ाई जा सकती है। हेल्थकेयर सेक्टर के लिए रेगुलेटर लाने की दिशा में भी कुछ घोषणाएं हो सकती हैं ताकि Insurance प्रोग्राम के तहत अस्पतालों के शुल्क और उनके स्तर में बदलाव लाया जा सके। इस दिशा में वित्त मंत्रालय की तरफ से पहल की गई है। स्वास्थ्य मंत्रालय के साथ इस दिशा में काम किया जा रहा है।

राज्यों में थम गई बिजली की चोरी-India Today

Fastnewstoday आयुष्मान भारत स्कीम के तहत सालाना 2.5 लाख से कम आय वाले परिवार पांच लाख तक का इलाज मुफ्त में करा सकते हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय के ताजा आंकड़ों के मुताबिक 50 करोड़ लोगों के अब भी 40 करोड़ लोग ऐसे हैं जिनके पास किसी प्रकार का कोई स्वास्थ्य बीमा नहीं हेल्थकेयर सेक्टर के लिए रेगुलेटर लाने की दिशा में भी हो सकती है

सरकार चाहती है कि स्वास्थ्य Insurance सबके पहुंच में हो-India
सरकार चाहती है कि स्वास्थ्य Insurance सबके पहुंच में हो-India

कुछ घोषणाएं पास अब आयुष्मान भारत कार्ड है, लेकिन अब भी 40 करोड़ लोग ऐसे हैं जिनके पास किसी प्रकार का कोई स्वास्थ्य बीमा नहीं है। हेल्थ Insurance स्वास्थ्य बीमा नहीं है। हेल्थ Insurance लेने की लागत इतनी अधिक होती है कि निम्न आय वर्ग वाले इसे आसानी से नहीं खरीद पाते हैं। निजी Insurance कंपनियों से पांच लाख तक का हेल्थ इंश्योरेंस लेने पर सालाना 15-35 हजार रुपये तक की लागत आती है

Bank और कारपोरेट सेक्टर के बीच कारोबारी रिश्तों को लेकर कुछ कदम उठाने के संकेत-RBI

Fastnewstoday जो Insurance लेने वाले की 24 घंटे से कम भर्ती होने पर भी मिलेगा बीमा का लाभ उपभोक्ता मामलों का मंत्रालय हेल्थ Insurance का लाभ लेने के लिए कम से कम 24 घंटे अस्पताल में भर्ती रहने के नियम में बदलाव को लेकर वित्त मंत्रालय के वित्तीय सेवा विभाग से बात करेगा। राष्ट्रीय उपभोक्ता आयोग ने इस नियम पर सवाल उठाया है। आम चलन के मुताबिक किसी सर्जरी के लिए हेल्थ Insurance उम्र पर निर्भर करती है।

सूत्रों के मुताबिक सरकार आयुष्मान भारत स्कीम का दायरा बढ़ा सकती है। हो सकता है सालाना पांच लाख तक के आय वाले परिवार को आयुष्मान भारत स्कीम में शामिल कर लिया जाए। इसके लिए आगामी अंतरिम बजट में आयुष्मान भारत के मद में होने वाले आवंटन को बढ़ाया जा सकता है। सूत्रों के मुताबिक सरकार आयुष्मान भारत के तहत पांच लाख का लाभ कंपनियां कम से कम 24 घंटे भर्ती होने के बाद ही देती है। 24 घंटे से कम समय के लिए भर्ती होने पर Insurance दावे को खारिज कर दिया जाता है।

सरकार चाहती है कि स्वास्थ्य Insurance सबके पहुंच में हो-India
सरकार चाहती है कि स्वास्थ्य Insurance सबके पहुंच में हो-India

Fastnewstoday उपभोक्ता आयोग का मानना है कि अब टेक्नोलाजी के विकास से कई सर्जरी में इतने समय तक भर्ती होने की जरूरत नहीं होती है। के कवरेज की सीमा भी बढ़ा सकती है। जानकारों का कहना है कि पांच लाख की सीमा को सात-आठ लाख तक करने पर सरकार पर बहुत ही मामूली आर्थिक बोझ पड़ेगा। सरकार की कोशिश है कि हेल्थ सेक्टर रेगुलेटर के जरिये हेल्थ Insurance की लागत को कम किया जाए और उसमें एकरूपता लाई जाए। अभी सभी कंपनियों India के स्वास्थ्य बीमा का प्रीमियम अलग-अलग होता है।

ये भी पढ़े…. 2023 के दौरान छोटे शेयरों ने निवेशकों की जमकर हुई कमाई-India

डाटा के अनुसार, इस वर्ष 22 दिसंबर तक BSI के स्मालकैप सूचकांक में 13,074.96 अंक या 45.20 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है। इसी तरह,BSI का मिडकैप सूचकांक 10,568.22 अंक या 41.74 प्रतिशत बढ़ा है। वहीं, इनकी तुलना में BSI का प्रमुख सूचकांक सेंसेक्स 10,266.22 अंक नया………………………….

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »