PM Modi भी आपके परिवार का है। आपको किसी और से पहचान की जरूरत नहीं-India

PM Modi भी आपके परिवार का है

विकसित भारत संकल्प यात्रा को गांव और गरीबों से जुड़ने का अभियान बताते हुए प्रधानमंत्री ने खुशी जताई कि यात्रा को शुरू हुए अभी 50 दिन भी नहीं हुए हैं, लेकिन ये यात्रा अब तक लाखों गांवों तक पहुंच चुकी है। ये अपने आप में एक रिकार्ड है।

भारत देश को विकसित बनाने के लिए जीना है, जुटना है, जूझना है और विजयी होकर निकलना-PM Narendra Modi

Fastnewstoday यात्रा में योजनाओं के लाभार्थियों से वर्चुअल संवाद में उन्होंने कहा, ‘विकसित भारत संकल्प यात्रा का ध्येय उस व्यक्ति तक पहुंचने का है, जो किसी कारणवश भारत सरकार की योजनाओं से वंचित रहा है। कभी-कभी तो लोगों को लगता है कि गांव में दो लोगों को मिल गया तो हो सकता है कि उनकी कोई पहचान होगी, उनको कोई रिश्वत देनी पड़ी होगी या उनका कोई रिश्तेदार होगा। • मैं ये गाड़ी लेकर गांव-गांव इसलिए निकला हूं कि मैं बताना चाहता हूं कि यहां कोई रिश्वतखोरी नहीं चलती, कोई भाई-भतीजावाद नहीं होता।

PM Modi भी आपके परिवार का है
PM Modi भी आपके परिवार का है

विकसित भारत संकल्प यात्रा के चौथे वर्चुअल संवाद में बुधवार को देशभर से एक हजार लाभार्थी जुड़े।PM Modi ने यात्रा की अब तक उपलब्धियों को साझा करते हुए कहा कि सरकार ग्रामीण जीवन में सहकारिता को सशक्त बनाने पर काम कर रही है। उन्होंने बताया कि यात्रा के दौरान उज्ज्वला के लिए 4.50 लाख नए आवेदन आए। एक करोड़ आयुष्मान कार्ड दिए जा चुके हैं। पहली बार देशव्यापी हेल्थ चेकअप हो रहा है, जिसमें सवा करोड़ का स्वास्थ्य परीक्षण हो, चुका है।

Fastnewstoday 70 लाख लोगों की टीबी से जुड़ी जांच, 15 लाख लोगों की सिकल सेल एनीमिया की जांच हो चुकी है। आभा कार्ड भी तेजी से बनाए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि आज PM Modi की गारंटी वाली गाड़ी से हो लाभ मिल रहा है। इनमें से अनेक साथी ऐसे होंगे, जिन्हें शायद ही कभी यह पता चल पाता कि वह भी ही सरकारी योजना के हकदार हैं। वह सोचते होंगे कि हमारा कोई परिचित- क रिश्तेदार नहीं तो योजना का लाभ कैसे मिलेगा। पर PM Modi भी आपके परिवार का है। आपको किसी और से पहचान की जरूरत नहीं।

PM Modi भी आपके परिवार का है
PM Modi भी आपके परिवार का है

चुनावों से पहले देश में पेट्रोल व डीजल की कीमत हो सकती कम-India

पूर्व सरकार पर निशाना साधते हुए बोले कि दस साल पहले की स्थिति होती तो ऐसे साथी सरकारी दफ्तर के चक्कर काटते-काटते हिम्मत हार जाते। पिछले अनुभव साझा करते हुए PM Modi ने कहा, ‘बीते दिनों जब मुझे इस यात्रा से जुड़ने का अवसर मिला, मैंने एक बात नोट की। हमारे गरीब, किसान, युवा और महिलाएं आत्मविश्वास से अपनी बात रखते हैं। उनको सुनकर मैं विश्वास से भर जाता हूं।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »