Police ने राम मंदिर आंदोलन के तीन दशक पुराने मामले में दो कार्यकर्ताओं को किया गिरफ्तार-New News

कर्नाटक पुलिस के राम मंदिर आंदोलन के तीन दशक पुराने मामले में दो कार्यकर्ताओं को किया गिरफ्तार

Police arrested two activists in the three decade old case of Ram Mandir movement-New News

Top News-अयोध्या में राम मंदिर के उद्घाटन की तारीख नजदीक आने के बीच कर्नाटक Police के राम मंदिर आंदोलन के तीन दशक पुराने मामले में दो कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार करने. का मामला सामने आया है। इस आंदोलन में उसके खिलाफ संपत्ति नष्ट करने और कई अन्य मामले दर्ज किए गए है। इसी तर्ज पर हुबली में Police ने तीन सौ आरोपितों की एक सूची तैयार की है।

 

Fast News Today सूत्रों का कहना है कि तीन दशक पहले 1992 में जब राम मंदिर आंदोलन अपने चरम पर था, तब के हिंसा और सांप्रदायिक दंगों के पुराने मामलों पर कर्नाटक की कांग्रेस सरकार के शासनकाल में कार्रवाई की जा रही है। Police ने एक विशेष जांच दल का गठन करके ऐसे मामलों में शामिल रहे करीब 300 आरोपितों के नामों की सूची तैयार कर ली है।

कर्नाटक पुलिस के राम मंदिर आंदोलन के तीन दशक पुराने मामले में दो कार्यकर्ताओं को किया गिरफ्तार
कर्नाटक Police के राम मंदिर आंदोलन के तीन दशक पुराने मामले में दो कार्यकर्ताओं को किया गिरफ्तार

राम मंदिर आंदोलन के दौरान वर्ष 1992 से 1996 के बीच के यह सभी मामले हैं। 5 दिसंबर, 1992 को हुबली में एक अल्पसंख्यक की दुकान जलाने के आरोप में Police ने श्रीकांत पुजारी नाम के एक व्यक्ति समेत दो लोगों को गिरफ्तार किया है। पुजारी इस मामले में तीसरा आरोपित है, जिसे Police ने न्यायिक हिरासत में भेजा है।

 

अब Police को इसी मामले में आरोपित अन्य आठ लोगों की तलाश है। Police सूत्रों का कहना है कि ज्यादातर आरोपित अब 75 साल के आसपास के हैं। इनमें से कई बहुत पहले शहर के बाहर जाकर बस चुके कार्रवाई हैं। इनमें से कई आरोपित अब बड़े ऊंचे ओहदों पर हैं। Police उन लोगों के खिलाफ कार्रवाई करने के नतीजों पर भी पसोपेश में है। प्रेट्र के अनुसार कर्नाटक विधानसभा में विपक्ष के नेता आर. अशोक ने संवाददाताओं से कहा कि कांग्रेस 31 साल पुराने अयोध्या आंदोलन में शामिल रहे हिंदू कार्यकर्ताओं के खिलाफ मामले फिर से खुलवाकर उनको धमका रही है।

कर्नाटक पुलिस के राम मंदिर आंदोलन के तीन दशक पुराने मामले में दो कार्यकर्ताओं को किया गिरफ्तार
कर्नाटक Police के राम मंदिर आंदोलन के तीन दशक पुराने मामले में दो कार्यकर्ताओं को किया गिरफ्तार

Fastnewstoday गिरफ्तार किए गए लोगों पर तनाव के दौरान पत्थरबाजी करने जैसे आरोप लगाए जा रहे हैं। सूत्रों का कहना है कि कांग्रेस सरकार ने Police विभाग को दिशा- निर्देश दिए हैं कि राम जन्मभूमि आंदोलन में शामिल रहे कुछ बड़े नेताओं के नाम इस मामले में फिर से जांच के दायरे में लाए जाएं जिन्हें भाजपा के सत्ता में रहते हुए उनके खिलाफ मामलों को बंद कर दिया गया था। राम जन्मभूमि आंदोलन का हिस्सा रहे कई लोग आज बड़े भाजपा नेता हैं। लिहाजा, कांग्रेस सरकार के इस कदम के खिलाफ हिंदू संगठनों ने कड़ी आपत्ति जताई है। नए घटनाक्रम से राज्य में एक बड़ा विवाद खड़ा हो सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »