छींक रोकने से जा सकती जान,सांस की नली में बना 0.08 इंच का छेद

कई बार छींक को रोक लेते हैं। लेकिन छींक रोकना घातक हो सकता है, इसका एक मामला सामने आया है छींक आने पर अगर आपने नाक और मुंह बंद करके इसे दबा दिया, तो यह जानलेवा साबित हो सकती है।

Media Report के मुताबिक एक व्‍यक्ति ने छींक रोकनी चाही, तो उसकी सांस की नली फट गई। साल 2018 में ब्रिटेन में हुई यह दुर्लभ घटना को हाल ही में BMJ केस Report में प्रकाशित किया गया है।छींक आना आम बात है। छींक आने के कई कारण हो सकते हैं जैसे सर्दी-जुकाम, एलर्जी या फिर कभी-कभी आम दिनों में भी छींक आ जाती है। कई लोग बार-बार छींकने से परेशान ही रहते हैं

Fastnewstoday BMJ केस स्‍टडी की Report में बताया गया कि शख्स कार चला रहा था, तभी उसे बुखार आ गया। जब उसे छींक आनी शुरू हुई, तो उसने छींकने के बजाय उसे रोक दिया उसे अचानक छींकने की तेज इच्‍छा महसूस हुई, लेकिन उसने छींकने के बजाय, अपनी नाक और अपना मुंह बंद करके इसे दबा दिया।छींक का दबाव इतना ज्‍यादा तेज था कि उसकी सांस की नली में 0.08 इंच बाय 0.08 इंच का छेद हो गया।

संसद में हंगामे पर 14 विपक्षी सांसद शेष सत्र के लिए निलंबित

Report के मुताबिक, उसे बेहद दर्द हो रहा था। गर्दन दोनों तरफ से सूज गई थी। हिलने-ढुलने में उसे बहुत परेशानी हो रही थी।Doctor के जांच करने पर उन्‍हें खट-खट की आवाज सुनाई दी। हालांकि शख्‍स को सांस लेने, निगलने और बात करने में कोई तकलीफ नहीं हो रही थी, लेकिन उसका अपने गले की गति पर नियंत्रण खो चुका था। उसका इलाज पेन किलर से किया गया। उसे पूरी तरह ठीक होने में 5 दिन लगे।

Fastnewstoday Doctors के मुताबिक, यह अपनी तरह का पहला ज्ञात मामला है। इससे उसकी जान तक जा सकती थी। Doctor तब हैरान रह गए जब उन्होंने पाया कि इतनी बड़ी दुर्घटना होने के बाद उसे सांस लेने में कोई तकलीफ नहीं हो रही थी। वह आराम से बात कर पा रहा था और उसे खाना निगलने में भी कोई परेशानी नहीं हुई।

निजी अस्पतालों की बढ़ेगी लूट,बिना बिल भुगतान नहीं देंगे मृत व्यक्ति का शरीर-Haryana

हालांकि उसकी गर्दन दोनों ओर से सूज गई थी और आवाज में कर्कश पन था।शख्‍स का तुरंत xray   किया गया। गर्दन के xray से पता चला कि छींक के कारण हवा त्वचा के सबसे गहरे टिश्‍यू के नीचे फंस गई थी।

उसका कंप्यूटेड टोमोग्राफी या CT scan कराया गया और पता चला कि उसके तीसरी और चौथी हड्डियों के बीच की मांसपेशियां फट गई हैं। उसके फेफड़ों के बीच छाती में हवा जमा हो गई थी उसका इलाज पेन किलर से किया गया। उसे पूरी तरह ठीक होने में 5 दिन लगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »